saur sujala yojana cg || सौर सुजला योजना छत्तीसगढ़ 2020-21 || सौर सुजला योजना फॉर्म || सौर सुजला योजना की जानकारी

saur sujala yojana cg || सौर सुजला योजना छत्तीसगढ़ 2020-21 || सौर सुजला योजना फॉर्म || सौर सुजला योजना की जानकारी

saur sujala yojana || सौर सुजला योजना छत्तीसगढ़ 2020-21 ||  सौर सुजला योजना फॉर्म || सौर सुजला योजना की जानकारी

नमस्ते दोस्तों हमारे ब्लॉग वेबसाइट theonlineinformation.in में आपका स्वागत है|

"दोस्तों आज इस पोस्ट के माध्यम से आप सीखेंगे छत्तीसगढ़ में सौर सुजला योजना क्या है ? इसका लाभ कैसे लेना है, क्या क्या इसके लाभ है, किनको-किनको इस योजना का लाभ मिलता है, और आप किस तरह से स्वयं लाभ ले सकते हैं। इन सभी से संबंधित जानकारी नीचे आपको मिलेगा तो दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढ़िए और लाभ उठाइए |

saur sujala yojana || सौर सुजला योजना छत्तीसगढ़ 2020-21 ||  सौर सुजला योजना फॉर्म || सौर सुजला योजना की जानकारी

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) का  उद्देश्य

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) का मुख्य उद्देश्य रियायती दरों (subsidized rates) पर उन्हें सौर सिंचाई पंप (Solar Irrigation Pumps) प्रदान करके किसानों को सशक्त बनाना है | इस योजना से केवल किसान अपनी भूमि पर खेती करने के लिए अधिक सक्षम होंगे बल्कि इस योजना के तहत ग्रामीण छत्तीसगढ़ में कृषि और ग्रामीण विकास को मजबूत बनाने में भी मदद मिलेगी |सौर सुजला योजना के तहत सरकार क्रमश: 3HP और 5HP क्षमता वाले सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंपों (Solar Irrigation Pumps) को किसानों को वितरित करेगी | पंप 31 मार्च 2019 तक किसानों को रियायती दरों (subsidized rates) पर उपलब्ध कराये जायेंगे |सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत अगले दो साल में छत्तीसगढ़ में लगभग 51000 किसान लाभान्वित होंगे | इस योजना को उन क्षेत्रों में प्राथमिकता के आधार पर लागू किया जाएगा जहां बिजली अभी तक नहीं पहुँची है |

 सौर सुजला योजना का कार्यान्वयन

इस को योजना छत्तीसगढ़ सरकार के ऊर्जा विभाग (Department of Energy) के अधीन क्रेडा (छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी) / CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा लागू किया जाएगा | इस योजना के तहत चालू वित्तीय वर्ष यानि 2016-17 के भीतर लगभग 11000 सौर पंप (Solar Irrigation Pumps) राज्य के कई क्षेत्रों में किसानों को वितरित किया जाएगा | सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत लाभार्थियों का चयन राज्य सरकार के कृषि विभाग (Department of Agriculture ) द्वारा किया जाएगा | किसान जो पहले से ही बोरवेल (Borewell) या पंप योजना (Pump Scheme ) के तहत लाभान्वित है वो भी इस योजना के लिए पात्र होंगे |

 

सौर सुजला योजना के तहत वितरित सोलर पम्पों के प्रकार

मोदी सरकार ने सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत लाभार्थियों को 2 तरह के सोलर पंप वितरित किये जायेंगे | इन सोलर पम्पों की क्षमता और विन्यास (Capacity and Configuration) अलग -2 होगा | इनमे से पहला सोलर पंप 3HP का है | यह छोटे पैमाने के किसानों के लिए उनकी सिंचाई गतिविधियों के प्रदर्शन के लिए फायदेमंद हो सकता है | दूसरा सोलर पंप 5HP का है जिसकी क्षमता अधिक है और यह ज्यादा पानी को पंप (pump) कर सकता है | यह माध्यम से उच्च पैमाने के किसानों के लिए उनकी सिंचाई गतिविधियों के प्रदर्शन के लिए फायदेमंद हो सकता है | ये दोनों ही सोलर पंप (Solar Pump)अत्यधिक कुशल हैं और CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा इन पम्पों के installation और maintenance में Technical Support दिया जाता है |

 

सौर सुजला योजना के तहत सोलर पम्पों की रियायती दरें

वर्तमान में 5HP सोलर पंप (Solar Pump) की बाजार में कीमत 4.5 लाख है | सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत ये सोलर पंप (Solar Pump) किसानों को रियायती दरों (subsidized rates) पर उपलब्ध कराये जायेंगे | 5HP सोलर पंप (Solar Pump) की रियायती कीमत लगभग 10,000- 20,000 होगी जो इस समय निश्चित नही है | वहीँ काम क्षमता वाले 3HP सोलर पंप (Solar Pump) की बाजार में कीमत 3.5 लाख है | ये सोलर पंप (Solar Pump) योजना के तहत योग्य किसानों को 7,000- 18,000 की रियायती कीमत पर प्रदान किये जायेंगे | इसलिए यह पम्पों पर एक भारी छूट है अन्यथा गरीब किसानों के लिए unaffordable होता |

 

 सौर सुजला योजना के तहत कैसे पंजीकृत हो

इस योजना के लाभार्थियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का कृषि विभाग (Agriculture Department) मुख्य पंजीयन प्राधिकरण (Registering Authority) है | किसान आवेदन करने के लिए मुक्त है पर रियायती दरों में सोलर पंप बांटने के लिए योग्य पात्रों को चयन कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा किया जायेगा | इस योजना के लिए आवेदन पत्र ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है | आवेदन को ठीक से भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ केवल कृषि कार्यालयों में प्रस्तुत करना होगा | इस योजना के लिए आवेदन शुल्क भी है | आवेदन प्राप्त होने के बाद CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा जांच की जाती है की आवेदक इस योजना के लिए योग्य पात्र है या नही |

 

सौर सुजला योजना में शामिल होने के लिए लाभार्थी की आवश्यक जानकारी

इस योजना के लिए कृषि विभाग (Agriculture Department) आवेदक से आवश्यक जानकारी एकत्रित करने के लिए जिम्मेदार है | लाभार्थी का नाम पता उचित दस्तावेज जैसे पहचान के सबूत (Identity Proof) और पते के सबूत (Address Proof) के साथ एकत्रित करना | इस योजना में शामिल होने के लिए आधार नंबर (Adhar Number) अनिवार्य है | इन दस्तावेजों के सत्यापन के बाद लाभार्थी के बैंक खाते (Bank Accounts) की जानकारी आवश्यक होती है | आवेदक को अपनी किसी एक बचत बैंक खाते (Saving Bank Accounts) की जानकारी प्रदान करनी होगी | आवेदक को अपना Mobile Number भी अनिवार्य रूप से प्रदान करना होगा | लाभार्थियों को SMS के माध्यम से परियोजना के बारे में update करते रहा जायेगा |

 

सौर सुजला योजना अंतर्गत आवेदन पत्र 1 से लेकर 5 प्रपत्र में होता है। जिसे पूरी तरह स्पष्ट रूप से सही – सही भरना आवश्यक है जिनमें निम्नलिखित जानकारीयां देना होता है ध्यान से पढिये:-

  

प्रपत्र-1 :-  इसमें सौर सुजला योजनान्तर्गत सोलर पंप की स्थापना हेतु हितग्राही का आवेदन पत्र होता है जो कि आवेदक के द्ववारा जानकारी भरा जाता है जिसका प्रारूप आवेदन में निम्न् प्रकार से रहता है जो कि प्रति, कार्यपालन अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा),  क्षेत्रीय कार्यालय, ........................................

द्वारा, उपसंचालक कृषि जिला -........................................

विषय :- में  सोलर पंप की स्थापना पर अनुदान की स्वीकृति हेतु आवेदन।

फिर नीचे में आवेदक का हस्ताक्षर करना होता है। सांथ ही साध्य/असाध्य श्रेणी के पंप हेतु प्रमाण पत्र रहता है जिसे उपसंचालक (कृषि जिला ............................ के नाम से भरा जाता है।

तथा नीचे उपसंचालक  सील एवं हस्ताक्षर रहता है। व आवेदन के सांथ में निम्न्‍लिखित दस्तावेज संलग्न करना होता है:-

-1- पहचान पत्र की सत्यापित छायाप्रति

2- पते के प्रमाण की सत्यापित छायाप्रति

3- आधार कार्ड की सत्यापित छायाप्रति अनिवार्य

4- वोटर कार्ड की सत्यापित छायाप्रति

5- बिजली बिल की सत्यापित छायाप्रति

6- भूमि का खसरा रकबा एवं कार्य स्थल का सत्यापित नक्शा अनिवार्य

7- जाति प्रमाण-पत्र की सत्यापित छायाप्रति अनिवार्य

8- आवेदन शुल्क का डिमांड ड्राफ्ट पम्प अनुसार अनिवार्य

9- स्थापना स्थल के फोटोग्राफ्स

10- बैंक पासबुक की सत्यापित छायाप्रति (पम्प अनुसार अनिवार्य |

 

प्रपत्र-1() :-  सौर सुजला योजनान्तर्गत सोलर पंप की स्थापना हेतु संस्था (गौठान/चारागाह)

का आवेदन पत्र  होता है जो कि प्रति, कार्यपालन अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा), क्षेत्रीय कार्यालय, ........................................

द्वारा, उपसंचालक कृषि

जिला -........................................ के नाम से आवेदन में रहता है जिसे भरना आवश्यक होता है। सांथ में निम्नलिखित दस्तावेज संलग्न करना होता है:-

1. भूमि का खसरा/रकबा एवं कार्य स्थल का सत्यापित नक्शा (अनिवार्य)

2. आवेदन शुल्क का डिमांड ड्राफ्ट ( पम्प अनुसार अनिवार्य)

3. स्थापना स्थल के फोटोग्राफ्स,

4. बैंक पासबुक की सत्यापित छायाप्रति ( पम्प अनुसार अनिवार्य)

5. संस्था का प्रमाण पत्र   तथा नीचे संस्था प्रमुख का हस्ताक्षर होता है।

 

प्रपत्र-2 :- सिस्टम इन्टीग्रेटर एवं क्रेडा द्वारा किये जाने वाला तकनीकी परीक्षण रिपोर्ट रहता है जिसमें निम्नलिखित जानरियां भरी जाती है:-

1-  जल स्त्रोंत का विवरण

2-  नदी/नहर अथवा अन्य स्त्रोंत हेतु सरफेस माऊंटेड पंप का

विवरणः

3-  परियोजना लागत विवरण

4-  वत्त माध्यम । और फिर सिस्टम इंटीग्रेटर का नाम व सिस्टम इंटिग्रेटर के हस्ताक्षर एवं सील की जरूरत पडती है सांथ में सत्यापन के संबंध में सहायक यंत्री, क्रेडा के हस्ताक्षर भी रहता है।

 

प्रपत्र-3 :-  स्वप्रमाणित घोषणा-पत्र भी देना पडता है जो कि आवेदक के द्ववारा दिया जाता है जो कि इस योजना के अनुरूप होता है तभी इस योजना का लाभ मिलता है। सांथ ही नीचे में 2 गवाह का गवाह 1.नाम हस्ताक्षर व पता की आवश्यकता होती है और नीचे  (हितग्राही के हस्ताक्षर) होता है।

 

प्रपत्र-4 :- सोलर पंप की स्थापना हेतु साईट क्लीयरेंस एवं औचित्य प्रमाणपत्र  भी फॉर्म के सांथ रहता है जिसमें हितग्राही का नाम व पूर्ण पता तथा उसके स्थान की पूरी जानकारी भी रहती है जिसमें हितग्राही के हस्ताक्षर   ,     सिस्टम इंटिग्रेटर के अधिकृत  प्रतिनिधि का नाम. हस्ताक्षर एवं सील  तथा      कार्यपालन अभियंता/सहायक अभियंता/जिला प्रभारी के हस्ताक्षर एवं सील क्रेडा, क्षेत्रीय कार्यालय/ जिला कार्यालय/ का हस्ताक्षर होता है।                                           

प्रपत्र-5 :- सिस्टम इंटीग्रेटर द्वारा प्रमाण पत्र आवेदन के सांथ में रहता है जिसमें उस जगह की जानकारियां दी जाती है जहां पर सौर उर्जा लगाना होता है। इसमें सिस्टम इंटीग्रेटर के हस्ताक्षर सील लगता है। सांथ ही औचित्य प्रमाण पत्र जिसमें हितग्राही के संयंत्र हेतु अनदान स्वीकृति की अनुशंसा सहित प्रस्ताव अग्रेषित किया जाता है। और नीचे सहायक अभियंता/जिला प्रभारी  के हस्ताक्षर एवं सील  क्रेडा, क्षेत्रीय कार्यालय/जिला कार्यालय ..........रहता है।


👉 सौर सुजला योजना हेतु आवेदन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें :- सौर सुजला योजना हेतु आवेदन

👉 इस योजना से संबंधित और अधिक जानकारी के लिये ऑफिसियल ऑफिसर से बात करने के लिए यहां क्लिक करें :-  ऑफिसियल कॉन्टेक्टर


इस प्रकार से आप सौर सुजला योजना का लाभ ले सकतें हैं ओर अपनी कृषि को बढावा दे सकते हैं।



महत्वपूर्ण जानकारियां 👇👇👇 इसे जरूर पढें :-

naksa kaise nikale || जमीन का नक्शा || cg revenu || bhu naksa || छत्तीसगढ भु नक्शा ||




प्रधानमंत्री आवास की लाभान्वित सूची


 

राशन कार्ड की जानकारी



किसान पंजीयन की जानकारी कैसे देखें| किसान कोड कैसे प्राप्त करें|

cg labour registrationछत्तीसगढ़ श्रम विभाग

cg khadya छत्तीसगढ खाद्य विभाग

PMAYG id to full Detail आवास की जानकारी

PMAYG List.प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) सूची




"दोस्तों यहाँ पर दी गई जानकारी आपको समझ आया या नहीं और आया तो कैसा लगा और नहीं आया तो कहा पर नहीं आया मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और यह भी बताएं की आपको और किस विषय में जानकरी चाहिए मै आपकी सहायता करने के लिए हमेशा तैयार हूँ|"



धन्यवाद|

नोट:- अगर आपको लगता है की इसमे दी गई जानकारी अपने दोस्तों रिश्तेदारों को भी मिले तो इसे शेयर जरूर कर देना|

                                        

एक टिप्पणी भेजें